कमला हैरिस कौन है ?

कमला हैरिस कौन है?

वर्ष 2020 में अमेरिकी उप-राष्ट्रपति बनने के लिए विश्वप्रसिद्ध  यह महिला का जन्म  कहाँ हुआ ? कहाँ  से करियर का शुरुवात हुआ ? आईये निचे दिए गये आर्टिकल को विस्तार से पढ़कर  जानते हैं|

#1 फैमिली और लालन पोषण

अक्टूबर ,2020 में दुनिया भर में प्रचलित इस हैरिस का पूरा नाम कमला देवी हैरिस है | जिसका जन्म 20 अक्टूबर , 1964 को संयुक्त राज्य अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया राज्य के ओकलैंड नामक शहर में हुआ |

विश्व में प्रशिद्ध यह 56 वर्षीय महिला अमेरिका में 2020 के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के लिए वाईस प्रेसिडेंट के लिए निर्वाचित हुई | जों की अमेरिका की सबसे पहले महिला वाईस प्रेसिडेंट के लिए विश्व प्रशिद्ध हुई और वो पहली महिला बनी जो इतने बड़े पद के लिए निर्वाचित हुई |

कमला हैरिस दो वंशों के नाम से जानी जाति है | कमला हैरिस भले ही अमेरिका में पैदा हुई , लेकिन उनके माता – पिता अमेरिका के नहीं बल्कि माता इंडिया से थी और पिता जमैका से |

उनके पिता डोनाल्ड हैरिस Standford यूनिवर्सिटी में पढ़ाते थे | और उनके माता श्यामा गोपालन भारतीय diplomat की बेटी और एक कैंसर शोधकर्ता थी | कमला हैरिस के माता श्यामा गोपालन का वर्ष 2009 में निधन हो गया था |

कमला हैरिस ने डगलस एमहाफ नाम के एक आदमी, जो एक पेशे से अटार्नी थे , जिसके पूर्व पत्नी के दो बच्चे थे , से शादी कर लिया |डगलस के पूर्व पत्नी के दोनों बच्चे हैरिस को प्यार से ‘मोमाला’ बुलाते हैं |

#2 एजुकेशन और करियर की शुरुवात

कमला हैरिस हावर्ड विश्वविद्यालय में चार साल बिताए, जिसे उसने अपने जीवन के सबसे औपचारिक अनुभवों के बीच वर्णित किया है।

उसने कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, हेस्टिंग्स में अपनी कानून की डिग्री हासिल की और अल्मेडा काउंटी जिला अटॉर्नी कार्यालय में अपना कैरियर शुरू किया ।

बाद में उसने ओकलैंड में एक डिप्टी डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी (1990-98) के रूप में काम किया, जो कठोरता के लिए ख्याति अर्जित कर रही थी क्योंकि उसने गैंग हिंसा, ड्रग ट्रैफिकिंग और यौन शोषण के मामलों का मुकदमा चलाया था।

वह 2003 में सैन फ्रांसिस्को के लिए शीर्ष अभियोजक बनी, 2010 में कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल के रूप में सेवा करने वाली पहली महिला और पहली अश्वेत व्यक्ति चुनी गईं, जो अमेरिका के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य में शीर्ष वकील थीं।

और वर्ष 2020 में डोनाल्ड ट्रंप को हराकर डेमोक्रेटिक पार्टी की सदस्यता में उपराष्ट्रपति के पद के लिए निर्वाचित हुई , जिसमें ‘ जो बाइडेन ‘ राष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचित हुए।